Breaking

Tuesday, September 1, 2020

जादुई पेड़ | The Magical Tree| Hindi Kahaniya | Moral Stories |

Hindi Kahaniya | Moral Stories |

The Magical Tree | Motivational Stories for Kids


बच्चों बहुत समय पहले की बात है , सीतापुर नामक गांव में दो दोस्त मोहन और सोहन रहा करते थे। मोहन बहुत अमीर था , व सोहन गरीब था। लेकिन फिर भी उनमे बहुत मित्रता थी, पैसा कभी भी उनके बिच आड़े नहीं आती थी। एक दिन मोहन की शादी बहुत ही सुन्दर और आमिर परिवार में हो जाता है। इस प्रकार सोहन अकेला हो जाता है। 

एक दिन अपने बगीचे में बैठा सोंचता है की काश वह भी आमिर होता तो उसके लिए भी कोई ढंग का रिस्ता आता इतने में कही से आवाज आई हे बालक क्या तुम मुझसे दोस्ती करोगे , सोहन घबरा कर अपने चारो तरफ देखने लगा पर उसे कोई दिखाई नहीं दिया। अभी वो शांत ही हुआ था की फिर से आवाज़ आई इस बार उसने देख लिया पास ही के एक पेड़ से आवाज़ आरही थी। सोहन बहुत आश्चर्य से पेड़ को देखने लगा , पेड़ ने कहा में तुम्हारा दोस्त बनना चाहता हूँ और इस प्रकार सोहन को उसका नया दोस्त मिल गया। 

पेड़ ने सोहन से कहा दोस्त में तुम्हरी परेशानी को दूर कर सकता हूँ , तुम्हे बहुत आमिर बना सकता हूँ ,लेकिन इसके लिए तुम्हे भी एक काम करना होगा , सोहन क्या- पेड़ ने कहा मुझे हर रोज एक बाल्टी पानी मेरी जड़ो में डालना होगा इसके बदले मै रोज तुम्हे कुछ पैसे दूंगा। 

सोहन ने बिलकुल वैसा ही किया वो रोज़ पानी डालता और पेड़ इसके बदले कुछ पैसे देदेता , इस तरह सोहन बहुत आमिर हो गया और उसकी शादी भी हो गयी। 

एक दिन उसकी पत्नी निर्मला ने सोहन से कहा, आप हर रोज़ पेड़ को पानी डालते हो और पेड़ कुछ पैसे देता है क्यों न हम एक ही दिन बहुत सारा पानी डाल दे जिससे ज्यादा पैसे एक ही दिन में मिल जायेगा।   सोहन को निर्मला की बात अच्छी लगी और ऐसा ही किया जिससे पेड़ सुख गया। और उनके पास जो भी पैसे थे वे भी गायब हो गए इस प्रकार से सोहन फिर से गरीब हो गया।     

इस कहानी से शिक्षा - बच्चो इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है की "लालच बुरी बला है"। 

No comments:

Post a Comment

Shri LK Advani Ji will be conferred the Bharat Ratna |श्री लालकृष्ण आडवाणी जी को भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा।

Shri LK Advani Bharat Ratna: श्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने ऑफिशियल व्हाट्सएप ग्रुप में आज यह न्यूज शेयर करते हुए बताया है की , "मुझे यह ...

More